Skip to main content

ODI World Cup Cricket Ke 50 Dilchasp Aur Mahatwapurn Records



दुनिया के सबसे लोकप्रिय खेलों में से एक क्रिकेट का महाकुम्भ यानि ICC वर्ल्ड कप 2019 इस बार इंग्लैंड में खेला जायेगा। यह 30 मई से शुरू होकर 14 जुलाई तक चलेगा। क्रिकेट का नया बादशाह कौन होगा यह 14 जुलाई को तय हो जायेगा। क्रिकेट प्रेमी अभी से इस जश्न का साक्षी बनने की तैयारी  में लग गए हैं। विश्व कप के कई मैचों के सारे   टिकट अभी से बिक चुके हैं और नॉट अवेलेबल को बोर्ड लग चूका है। क्रिकेट के  खेल में रिकार्ड्स का बहुत महत्त्व होता है। न केवल खिलाडी बल्कि क्रिकेट प्रेमी भी एक एक रिकार्ड्स को जुबानी याद रखते हैं। फिर तो यह विश्व कप है। इसके रिकार्ड्स अपने आप में काफी महत्वपूर्ण हो जाते है। आइये देखते हैं वर्ल्ड कप के कुछ दिलचस्प रिकार्ड्स :

ODI वर्ल्ड कप के 50 दिलचस्प रिकार्ड्स 

Image result for icc cricket world cup
  • विश्व कप के इतिहास में सबसे कम उम्र  के खिलाडी के रूप में कनाडा के नितीश कुमार का नाम आता है। 2011 के विश्व कप में जब उन्होंने अपना पहला मैच खेला तब उनकी उम्र 16 वर्ष 283 दिन थी। सबसे अधिक उम्र में विश्व कप खेलने का रिकॉर्ड नोलन क्लार्क का है उन्होंने 1996 के विश्व कप मुकाबले में 47 वर्ष और 257 दिन की उम्र में भाग लिया था। 

  • ऑस्ट्रेलिया के  रिकी पोंटिंग ने विश्व कप में कप्तान के रूप में सबसे ज्यादा 29 मैच खेलें हैं और यह विश्व रिकॉर्ड है अर्थात कप्तान के रूप में सबसे ज्यादा मैच खेलने का रिकॉर्ड उन्ही के नाम है। रिकी पोंटिंग ने इसी के साथ एक और रिकॉर्ड बनाया है। वे विश्व के सबसे सफल कप्तान हैं। उनकी जीत का औसत 92. 85 प्रतिशत है। सबसे ज्यादा मैचों में कप्तानी का रिकॉर्ड  भी उन्ही के नाम है। उन्होंने 29 मैचों में कप्तानी की है। 

  • सबसे कम उम्र में विश्व कप जीतने का श्रेय भारत के कपिलदेव को जाता है। उनके नेतृत्व में जब भारत ने विश्व कप जीता उस समय उनकी उम्र मात्र 24 वर्ष 5 माह और 19 दिन थी। इसके बाद नाम आता है ऑस्ट्रेलिया  रिकी पोंटिंग का जिनकी उम्र 2003 के वर्ल्ड कप जीतने के समय 28 वर्ष 3 माह और 4 दिन थी। इसके बाद नाम आता है भारत के महेंद्र सिंह धोनी का। उन्होंने 2011 वर्ल्ड कप 29 वर्ष 8 माह और 26 दिन की उम्र में जीता था। 


  • क्रिकेट के इतिहास में ऐसे मात्र चार खिलाडी हुए हैं जिन्होंने एक से ज्यादा देशों के लिए विश्व कप प्रतियोगिता में भाग लिया है। एंडरसन कम्मिंस, केप्लर वेसेल्स, एड जॉयसी और एविन मॉर्गन ऐसे खिलाडी हैं जिन्होंने एक से ज्यादा देशों के लिए विश्व कप में भाग लिया है। 


  • एडम गिलक्रिस्ट, ग्लेन मैक्ग्राथ और रिकी पोंटिंग विश्व के ऐसे खिलाडी हैं जो तीन बार विश्व कप विजेता टीम के सदस्य रहे थे। 


  • ऑस्ट्रेलिया के रिकी पोंटिंग 46 मैचों में खेल कर विश्व कप के सबसे ज्यादा मैचों में भाग लेने का  रिकॉर्ड अपने नाम किया था। दूसरे स्थान पर सचिन तेंदुलकर का नाम आता है। उन्होंने 45 मैचों में भाग लिया था। 
Image result for team cricket australia

  • सबसे ज्यादा कैच लेने वाले खिलाडी के रूप में रिकी पोंटिंग का नाम आता है। उन्होंने 28 कैच लिए हैं। किसी एक टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा कैच पकड़ने का रिकॉर्ड रिकी पोंटिंग का है उन्होंने 2003 के विश्व कप में 11 कैच पकड़े थे। 


  • श्री लंका के कुमार संगकारा ने 54 खिलाडियों को आउट कर दुनिया के सबसे सफल विश्व कप विकेट कीपर के रूप में रिकॉर्ड को अपने नाम किया है जबकि एक विश्व कप टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा सफल विकेटकीपर का रिकॉर्ड एडम गिलक्रिस्ट  का है जिन्होंने 2003 के विश्व कप टूर्नामेंट में 21 खिलाडियों को आउट किया था।    



  • विश्व कप के मैचों में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाडी ग्लेन मैकग्राथ हैं उन्होंने कुल 71 विकेट लिए हैं। 

  • सबसे कम इकोनॉमी रेट  से रन देने वाले खिलाडी किसी विश्व कप में एंडी रॉबर्ट्स हैं जिन्होंने 3.24 के इकॉनामी रेट से बोलिंग किया है। 

  • सबसे कम औसत रन देने का रिकॉर्ड ग्लेन मैकग्राथ का है जिन्होंने अपने पुरे विश्व कप प्रदर्शन के दौरान 18.19 के औसत से रन दिए हैं। 

  • दुनिया में सबसे अच्छे बोलिंग प्रदर्शन का रिकॉर्ड भी ग्लेन मैकग्राथ के नाम ही है उन्होंने नामीबिया के खिलाफ 2003 के विश्व कप में मात्र 15 रन पर सात विकेट लिए थे। 

  • लगातार गेंदों पर सबसे ज्यादा विकेट लेने का रिकॉर्ड लसिथ मलिंगा का है। उन्होंने 2007 के विश्व कप में साउथ अफ्रीका के चार खिलाडियों को लगातार चार गेंदों में आउट किया था।


  • वर्ल्ड कप के इतिहास में सबसे पहला हैट ट्रिक लेने वाले खिलाडी थे चेतन शर्मा उन्होंने 1987 के विश्व कप में न्यूजीलैंड के विरुद्ध यह कारनामा दिखाया था। इनके अलावै विश्व कप मैचों में हैट ट्रिक लेने वाले अन्य खिलाडी हैं सक़लैन मुश्ताक़ (vs ज़िम्बाब्वे 1999), चामिंडा वास (vs बांग्लादेश 2003), ब्रेट ली (vs केन्या 2011), कमर रोच (vs नेदरलॅंड्स 2011 ), स्टीवन फिन (vs ऑस्ट्रेलिया 2015 ) और जेपी डुमिनी (vs श्री लंका 2015)

  • सबसे ज्यादा लगातार मैचों में शतक लगाने का रिकॉर्ड कुमार संगकारा का है जिन्होंने 2015 के विश्व कप में लगातार चार मैचों में शतक लगाए थे। 

  • सबसे ज्यादा अर्ध शतक लगाने का रिकॉर्ड स्टीव स्मिथ का है उन्होंने 2015 के विश्व कप मैचों में लगातार पांच अर्ध शतक लगाए थे। 

  • लगातार सबसे ज्यादा डक यानि शून्य पर आउट होने वाले खिलाडी हैं निकोलस डे ग्रूट और शेम नुचे ये दोनों  खिलाडी क्रमशः 2003 और 2011 के विश्व कप में लगातार तीन तीन मैचों में डक पर आउट हुए थे।

  • सबसे ज्यादा किसी एक टूर्नामेंट में शतक लगाने का रिकॉर्ड कुमार संगकारा का है उन्होंने 2015 के विश्व कप में चार शतक लगाए थे। 

  • सबसे ज्यादा अर्ध शतक किसी विश्व कप में लगाए जाने का रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम है उन्होंने 2003 के विश्व कप में सात अर्ध शतक लगाए थे। 

  • विश्व कप के एक टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम है उन्होंने 2003 के विश्व कप में 11 परियों में 673 रन बनाये थे।
Image result for sachin tendulkar
  • विश्व कप के सभी टूर्नामेंटों में सबसे ज्यादा रन बनाने के रिकॉर्ड भी सचिन के नाम है उन्होंने विश्व कप मैचों में 2278 रन बनाये हैं। 

  • सबसे ज्यादा छक्का मारने के रिकॉर्ड एडम गिलक्रिस्ट का है उन्होंने 2003 विश्व कप में छह परियों में कुल 26 छक्के लगाए थे।

  • विश्व कप में सबसे ज्यादा रन औसत एबी डिविलियर्स का है उन्होंने 63.52 की औसत से रन बनाये हैं। 

  • विश्व कप में सबसे ज्यादा स्ट्राइक रेट ब्रेंडन मक्कुलम का है उन्होंने 120.84 के स्ट्राइक रेट से रन बनाये हैं। 

  • विश्व कप के इतिहास में सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड केविन ओब्रायन का है उन्होंने 2011 के विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ मात्र 50 बॉल में अपना शतक पूरा कर लिया था। 

  • सबसे तेज दुहरा शतक बनाने का कीर्तिमान क्रिस गेल  उन्होंने मात्र 138 बॉल में ज़िम्बाब्वे के विरुद्ध 2015 के विश्व कप में अपना  दुहरा शतक बनाया था। 
Image result for icc cricket world cup
  • वहीँ सबसे तेज 150 रन एबी डिविलियर्स ने वेस्ट इंडीज के खिलाफ 2015 के वर्ल्ड कप में मात्र 64 गेंदों में बनाया था। 

  • सबसे तेज अर्ध शतक का रिकॉर्ड ब्रेंडन मैकुलम का है उन्होंने 2015 के वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के विरुद्ध मात्र 18 बॉल में बना कर इतिहास रच दिया। 

  • विश्व कप के इतिहास में सबसे ज्यादा शतक बनाने वाले खिलाडी के रूप में सचिन तेंदुलकर का नाम आता है। उन्होंने कुल 6 शतक लगाए हैं। 

  • सचिन तेंदुलकर के नाम ही सबसे ज्यादा अर्ध शतक लगाने का भी कीर्तिमान भी है उन्होंने 21 बार यह कारनामा दिखाया था। सबसे ज्यादा बार डक पर आउट होने वाले खिलाडी नाथन एस्टल हैं वे 22 परियों में 5 बार शून्य पर आउट हुए हैं। 

  • सबसे ज्यादा छक्के लगाने में दो खिलाडियों ने संयुक्त रूप से रिकॉर्ड बनाया है। क्रिस गेल और एबी डिविलियर्स दोनों ने ही 37 छक्के लगाए हैं। 

  • एक पारी में सबसे ज्यादा छक्के लगाने का रिकॉर्ड क्रिस गेल का है जब उन्होंने 2015 के विश्व कप में ज़िम्बाब्वे के विरुद्ध खेलते हुए 16 छक्के मारा था। 

  • विश्व कप के इतिहास में सबसे ज्यादा एक पारी में रन बनाने का रिकॉर्ड मार्टिन गुप्टिल का है जब उन्होंने वेस्ट इंडीज के खिलाफ 237 नॉट आउट की ऐतिहासिक पारी खेली थी। इसी पारी में उनके नाम से एक और रिकॉर्ड है। उन्होंने  एक पारी में केवल बॉउण्ड्री से 162 रन बनाये जो कि विश्व कप में किसी अन्य के द्वारा बनाये गए बाउंड्री रनों से ज्यादा है। 

  • वर्ल्ड कप के इतिहास में एक पारी में किसी टीम के द्वारा बनाया गया सर्वाधिक स्कोर 417 रन है। यह ऑस्ट्रेलिया के द्वारा 2015 में अफगानिस्तान के विरुद्ध बनाया गया था। 

  • वहीँ सबसे कम स्कोर कनाडा के नाम है जो उसने श्रीलंका के खिलाफ 2003 के विश्व कप में बनाया था।  कनाडा ने अपनी पारी में मात्र 36 रन बनाये थे। 

  • विश्व कप में लगातार जितने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के पास है। टीम ऑस्ट्रेलिया 1999 से 2011 के विश्व कप में लगातार 27 बार अपराजेय रही है। 

  • वहीँ लगातार हारने के रिकॉर्ड ज़िम्बाब्वे का है। इस टीम ने 1983 से 1992 के बीच लगातार 18 मैचों में हार का सामना किया है।  
Image result for icc cricket world cup
  • किसी मैच में सबसे ज्यादा दोनों टीमों के स्कोर का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के पास है। इन दोनों टीमों ने 2015 के विश्व कप के एक मैच में मिलकर 688 रन 18 विकेट पर बनाये थे। 

  • वहीँ सबसे कम दोनों टीमों के द्वारा बनाया गया स्कोर 11 विकेट पर 73 रनों का है। यह स्कोर कनाडा और श्रीलंका का है जब उन दोनों टीमों ने 2003 के विश्व कप में बनाया था। 

  • सबसे ज्यादा अंतर से जीत का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के पास है। इस टीम ने 2015 विश्व कप में अफगानिस्तान को 275 रनों से हराया था। 

  •  सबसे ज्यादा रनों का पीछा यानि चेज कर जीत हासिल करने का कीर्तिमान इंग्लैंड ने बनाया था जब उसने 2011 के विश्व कप में आयरलैंड के 329 रन 7 विकेट के स्कोर को चेज कर जीत हासिल की थी। 

  • सबसे कम मार्जिन से जीत का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया और भारत का है। ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 1987 और 1992 दोनों वर्ल्ड कप के अलग अलग मैचों में एक एक रन से हराया था। 

  • विश्व कप में सबसे लम्बी पार्टनरशिप मार्लोन सैमुएल्स और क्रिस गेल का है। इन दोनों खिलाडियों ने 2015 के विश्व कप में ज़िम्बाब्वे के विरुद्ध 372 रनों की साझेदारी निभाई थी। 

  • ऑस्ट्रेलिया विश्व कप के मैचों में सबसे ज्यादा जीत का प्रतिशत लेकर सर्वोच्च स्थान पर है। उनकी जीत का प्रतिशत 75.30 का है। 

  • वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा 62 मैच जीतने का रिकॉर्ड भी ऑस्ट्रेलिया का ही है। 

  • सबसे ज्यादा मैच हारने का रिकॉर्ड ज़िम्बाब्वे का है। इस टीम ने विश्व कप के मैचों में 42 मैच हारे हैं। 

  • 1987 का विश्व कप पहला विश्व कप था जिसका आयोजन इंग्लैंड से बाहर हुआ था। 

  • इंग्लैंड एक ऐसी टीम है जो तीन तीन बार फाइनल में पहुंची पर एक बार भी विश्व विजेता नहीं बन सकी।
Image result for icc cricket world cup
  • ऑस्ट्रेलिया विश्व की एकमात्र ऐसी टीम है जो दो बार विश्व कप में अपने सारे मैच जीतने का कारनामा कर चुकी है। 2003 और 2011 के विश्व कप में उसने 11-11 मैच खेले और उन सभी में उसे विजय मिली।

  • सचिन तेंदुलकर विश्व कप के मैचों में सबसे ज्यादा बार मैन ऑफ़ द मैच चुने गए हैं। उन्होंने 35 पारियों में 8 बार  मैन ऑफ़ द मैच चुने गए थे।    


Popular posts from this blog

RPF Aur GRP Me Kya Antar Hai

ट्रेनों से सफर के दौरान अकसर हमें पुलिस वाले दिखाई पड़ जाते हैं। कभी ट्रैन के अंदर तो कभी प्लेटफार्म पर , कभी टिकट खिड़की के पास तो कभी माल गोदाम की तरफ। स्टेशनो पर जब भी पुलिस की बात चलती है तो जीआरपी और आरपीएफ का नाम जरूर आता है। पुलिस वालों को भी देखा जाता है तो उनके कंधे पर GRP या RPF लिखा मिलता है। बहुत कन्फ्यूजन होता है और अकसर हमारे दिमाग में यह बात आती है कि इन दोनों में फर्क क्या है। पुलिस तो दोनों हैं। आइए देखते हैं जीआरपी और आरपीएफ में क्या अंतर है ?

RPF aur GRP ka full form kya hota hai 

RPF का फुलफॉर्म होता है Railway Protection Force यानि रेलवे सुरक्षा बल जबकि GRP का फुलफॉर्म होता है Government Rail Police 

RPF Aur GRP Me Kya Antar Hai

RPF यानि रेलवे सुरक्षा बल एक सैन्य बल है जो सीधे ministry of railway के अंतर्गत आता है। इसका मुख्या कार्य रेलवे परिसम्पत्तिओं 
की सुरक्षा करना होता है। इसके अंतर्गत रेलवे परिसर में उपस्थित सारे सामान आते हैं। यह रेल मंत्रालय के प्रति जवाबदेय होता है। यह रेलवे स्टॉक , रेलवे लाइन , यार्ड , मालगोदाम इत्यादि बहुत सारी चीज़ों की सुरक्षा करता है। इन सम्…

ऐसा धन जिसे कोई चुरा नहीं सकता

ऐसा धन जिसे कोई चुरा नहीं सकता a motivational story
मोटिवेशनल स्टोरी 

"पापा पापा, बाबू ने मेरी ड्राइंग की कॉपी फाड़ दी है " बेटी ने रोते हुए शिकायत किया। "देखिए न, मैंने कितना कुछ बनाया था।" उसने फटे हुए पन्नो को जोड़ते हुए दिखाया। मैंने उसे चुप कराने की कोशिश की तो वह और भी ज्यादा रोने लगी। मैंने कहा अच्छा ठीक है चलो मै तुम्हे दूसरी कॉपी दिला दे रहा हूँ। मै कान्हा को बुलाया और खूब डांटा तो वह भी रोने लगा और बोला "दीदी मुझे कलर वाली पेंसिल नहीं दे रही थी।" अब दोनों रो रहे थे।  मैंने दोनों को समझाया। कान्हा तो चुप हो गया किन्तु इशू रोए जा रही थी। "मैंने इतने अच्छे अच्छे ड्राइंग बनाये थे , सब के सब फट गए।" वास्तव में इशू की रूचि ड्राइंग में कुछ ज्यादा ही थी। जो भी देखती उसे अपने ड्राइंग बुक में बना डालती, कलर करती और संजो कर रख लेती। मै उसको समझाने लगा देखो बेटी फिर से बना लेना, उसने कॉपी फाड़ी है किन्तु तुम्हारे हुनर को कोई नहीं छीन सकता। हुनर या टैलेंट ऐसी चीज़ है जिसे कोई नष्ट नहीं कर सकता। वह मेरे पास आकर बैठ गयी, मै उसके सर पर हाथ फेरने लगा वह अ…

कील मुंहासे, पिम्पल्स या एक्ने से कैसे छुटकारा पाएं , कुछ घरेलु उपचार

कील मुंहासे या पिम्पल्स न केवल चेहरे की खूबसूरती को कम करते हैं बल्कि कई बार ये काफी तकलीफदेय भी हो जाते हैं। कील मुंहासो की ज्यादातर समस्या किशोर उम्र के लड़के लड़कियों में होती है जब वे कई तरह के शारीरिक परिवर्तन और विकास के दौर में होते हैं। 




कील मुंहासे, पिम्पल्स या एक्ने क्या हैं


अकसर किशोरावस्था में लड़के और लड़कियों के चेहरों पर सफ़ेद, काले या लाल दाने या दाग दिखाई पड़ते हैं। ये दाने पुरे चेहरे पर होते हैं किन्तु ज्यादातर इसका प्रभाव दोनों गालों पर दीखता है। इनकी वजह से चेहरा बदसूरत और भद्दा दीखता है। इन दानों को पिम्पल्स, मुंहासे या एक्ने कहते हैं। 




पिम्पल्स किस उम्र में होता है 

पिम्पल्स या मुंहासे प्रायः 14 से 30 वर्ष के बीच के युवाओं को निकलते हैं। किन्तु कई बार ये बड़ी उम्र के लोगों में भी देखा जा सकता है। ये मुंहासे कई बार काफी तकलीफदेय होते हैं और कई बार तो चेहरे पर इनकी वजह से दाग हो जाते हैं। चेहरा ख़राब होने से किशोर किसी के सामने जाने से शरमाते हैं तथा हीन भावना से ग्रस्त हो जाते हैं। 
कील मुंहासे, पिम्पल्स या एक्ने के प्रकार 

ये पिम्पल्स कई प्रकार के हो सकते हैं। कई बार ये छोटे …