Skip to main content

Diabetes Ya Sugar Me Kya Na Khaye: 10 Cheezen Aapko Turant Chhod Deni Chahiye Yadi Aap Diabetes Ya Sugar Ke Marij Hain

आपको डायबिटीज है इस बात का पता चलते ही आपकी पूरी दुनिया ही बदल जाती है। आप मरीज और सब डॉक्टर बन जाते हैं और तरह तरह की सलाह देने लगते हैं। तुम्हे यह खाना चाहिए तुम्हे वह नहीं खाना चाहिए। दिन में चार बार खाओ सुबह में टहलो रोटी खाओ चावल मत खाना आदि आदि। मरीज बेचारा बहुत ही कन्फ्यूज्ड हो जाता है। उसके दिमाग में भय उत्पन्न हो जाता है और उसे अपना जीवन नीरस लगने लगता है। वह हमेशा भय में रहता है हर चीज़ खाने में डरने लगता है। कभी कभी वह इतना परहेज़ करने लगता है कि उसका शुगर लेवल मिनिमम से भी नीचे चला जाता है। यह भी स्थिति खतरनाक होती है। डायबिटीज का पता लगे तो  हमें घबराना नहीं चाहिए।  आराम से किसी अच्छे डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए और उसकी सलाह के अनुसार दवा और परहेज करना चाहिए। डायबिटीज यदि नियंत्रण में है तो फिर घबराने की कोई बात नहीं। अतः समय समय पर इसकी जांच करवाते रहना चाहिए।
डायबिटीज में आपका खान पान और आपकी जीवन शैली का काफी महत्व है। मरीज को डॉक्टर की सलाह का पूरा ध्यान से पालन करना चाहिए। साथ ही खाने पीने की कुछ चीज़ें जो हमारे शुगर लेवल को बढ़ाती हैं उनकी जानकारी रखनी चाहिए। इसमें जानकारी ही सर्वोत्तम उपचार होता है।


10 चीज़ें आपको तुरंत छोड़ देनी चाहिए यदि आप शुगर या डायबिटीज के मरीज हैं



    Supermarket Cola Soft Drink Soda Supermark
  • बेवरेज:  कोल्डड्रिंक,लस्सी ,शरबत आदि पेय पदार्थों में चीनी की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। कई रिसर्चों में पाया गया कि 200 ml कोल्ड ड्रिंक में करीब सात से ग्यारह चम्मच तक चीनी की मात्रा होती है। साथ ही अलग अलग ब्रांड के कोल्ड ड्रिंक में तथा अलग अलग देशों के सेम ब्रांड में इसकी मात्रा में काफी अंतर होता है।किन्तु किसी भी स्थिति में यह हमारे दिन भर की जरुरत के लायक चीनी की मात्रा से कम नहीं होता। डाइटिशियन की माने तो एक पुरुष को एक दिन में 70 g और एक महिला को 50 g चीनी सारे इनपुट भोजन या पेय पदार्थों से लेना चाहिए। यानि 200 ml का कोई कोल्डड्रिंक पीने के बाद उसी दिन यदि दूसरा कोल्डड्रिंक पिया जाय या कुछ भी मीठा खाया जाय तो वह हमारी उस दिन की जरुरत से ज्यादा होगी और यही अतिरिक्त  चीनी हमारे शरीर में नुक्सान पहुंचाता है। एक अन्य शोध में पाया गया कि कोल्ड ड्रिंक पीने के बीस मिनट के भीतर ही हमारे शरीर के ब्लड में शुगर का लेवल बढ़ जाता है। हमारा लिवर इस अतिरिक्त शुगर को वसा में बदल देता है जो हमारे शरीर के लिए काफी नुक्सानदायक है। 


  • केक पेस्ट्रीज,आइसक्रीम  : केक और पेस्ट्रीज में काफी मात्रा में शुगर और फैट होता है यह इस रोग में काफी नुकसानदायक साबित होता है। अतः इसके प्रयोग से बचना चाहिए। उच्च फैट वाले पदार्थ हमारे शरीर की इन्सुलिन प्रतिरोधक क्षमता को नुक्सान पहुंचाता है। केक और पेस्ट्रीज में मौजूद उच्च शर्करा और रिफाइंड आटे का मिश्रण न केवल ब्लड में शुगर के लेवल को बढ़ाता है बल्कि इन्सुलिन के फंक्शन में  बाधा पहुंचाता है। 
  • फ्रूट जूस : डायबिटीज के मरीजों को फलों के जूस से परहेज करना चाहिए। इन जूस में शुगर की मात्रा काफी ज्यादा होती है। साथ ही इन जूस में फाइबर की मात्रा नहीं के बराबर होती है। जूस की बजाय मरीज को बहुत इच्छा हो तो थोड़ा फल खाना चाहिए। जूस निकालने के दौरान फल के कई लाभदायक अवयव जैसे एंटीऑक्सीडेंट्स, फाइबर आदि नष्ट हो जाते हैं। अब आपके पास बिना फाइबर का शुगर से  भरपूर जूस बचता है। फाइबर शरीर में फलों के शुगर को शरीर में अवशोषित होने की प्रक्रिया को धीमा करता है जिससे कि इनका गलाईकेमिक इंडेक्स कम रहे। 
  • अलकोहल : अलकोहल डायबिटीज के रोगियों को काफी नुक्सान पहुंचाता है। इसकी ज्यादा मात्रा ब्लड शुगर को बढ़ाती है। अलकोहलिक ड्रिंक्स  अक्सर बहुत ज्यादा मात्रा में कैलोरीज होता है अलकोहल हमारे भूख को स्टिमुलेट कर देता है जिससे कि लोग ज्यादा भोजन लेने लगते हैं और शरीर में चर्बी बनने लगती है। यह चर्बी हमारे शरीर को मोटापा देता है जो कि शुगर के लिए काफी खतरनाक है। इसके साथ ही अलकोहल मुँह से लेने वाली शुगर की गोलियों पर भी विपरीत असर डालता है।


  • रिफाइंड अनाज : रिफाइंड ग्रेन्स जैसे पॉलिशड चावल, सफ़ेद पाश्ता, वाइट ब्रेड जिसमे फाइबर की मात्रा बहुत कम होती है हमारे ब्लड शुगर को बढ़ाते हैं। एक छह साल के अध्ययन में जो 65000 महिलाओं पर किया गया था जो इस तरह के भोजन लेती थीं उनमे टाइप टू डायबिटीज होने की ढाई गुना संभावना पायी गयी बनिस्पत वो जो फाइबर युक्त भोजन लेती थीं। 
    Fruit Fruits Fruit Stand Fruit Juice Juice
  • फल : ऐसे फल जिनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स ऊँचा होता है उनका सेवन कत्तई नहीं करना चाहिए। आम, केला,सेब, अंगूर आदि फल शुगर के मरीजों को काफी नुक्सान पहुंचाते हैं। बहुत इच्छा हो तो उन्हें फाइबर युक्त फल थोड़ी  मात्रा में खा सकते हैं। फाइबर होने से नुक्सान कम होता है। 

  • फ्रेंच फ्राइज  : फ्रेंच फ्राइज में काफी मात्रा में फैट और कार्बोहाइड्रेट्स  पाए जाते हैं जो हमारे शरीर में शुगर लेवल को तुरत बढ़ा देते हैं। अतः डायबिटीज के रोगिओं को इससे बचना चाहिए। फ्रेंच फ्राइज के अलावा आलू के चिप्स भी काफी नुक्सान पहुंचाते हैं। फ्राइड फूड्स में हैवी कार्ब्स और स्टार्च की प्रचुर मात्रा होती है जो कि शुगर लेवल को एकदम से बढ़ा देते हैं। इसमें मौजूद आयल की वजह से काफी एक्स्ट्रा कैलोरीज प्राप्त होती है। इन चीज़ों से हमारा वजन एकदम से बढ़ने लगता है और ज्यादा वजन डायबिटीज के साथ साथ दिल की बिमारियों में भी नुकसान पहुँचाती है।  



  • आलू शकरकंद बीट : ये तीनो सब्ज़ियां कार्बरिदृट्स से परिपूर्ण होती हैं जिसका असर हमारे शरीर में दिखने लगता है। अतः इनसे परहेज ही करना चाहिए। 

    Raisin Grapes Dry Fruit Wine Food Nutritio
  • किशमिश या अन्य ड्राई फ्रूट्स : किशमिश और अन्य ड्राई फ्रूट्स विटामिन्स से भरपूर तो होते हैं पर डायबिटीज के रोगियों को इनका प्रयोग बहुत ही सावधानी पूर्वक करना चाहिए। खासकर किशमिश और छुहारे का प्रयोग तो कत्तई नहीं करना चाहिए। इसका कारण है कि सूखने के साथ साथ इनमे मौजूद शुगर एकदम कंसन्ट्रेट हो जाता है जो हमारे ब्लड में शुगर के लेवल को बढ़ा देता है। 
  • रेड एंड प्रोसेस्ड : कई लोगों का मानना है कि हाई शुगर फ़ूड छोड़ कर भोजन में मीट की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए। पर कई शोधों में यह पाया गया है कि मीट खासकर रेड और प्रोसेस्ड मीट टाइप टू डायबिटीज में काफी नुकसानदायक होता है। अभी हाल ही में  12 शोध पत्रों के एक मेटा एनालिसिस में पाया गया है कि रेगुलर मीट खाने वालों में टाइप टू डायबिटीज होने की संभावना 17 प्रतिशत और रेड मीट खाने वालों में यह खतरा 21 प्रतिशत जबकि प्रोसेस्ड मीट खाने वालों में 41 प्रतिशत तक बढ़ गयी। 







      Comments

      Popular posts from this blog

      Dubai: Duniya Ki Sabse Unchi Buildingon Ka Shahar

      दुबई का नाम आते ही दिमाग में एक ऐसे शहर का ख्याल आता है जो चकाचौंध से भरपूर हो , जहाँ चौड़ी चौड़ी सड़कें हों जिन पर महँगी महँगी गाड़ियां पूरी स्पीड से दौड़ रही हों, सर से पांव तक सफ़ेद कपड़ों में लिपटे शेख हों और जहाँ अकूत दौलत हो, जहाँ आसमान से बातें करती ऊँची ऊँची अट्टालिकाएं हों  ।
      दुबई ने मात्र पांच दशकों में ही तरक्की और विकास की जो मिसाल कायम की है वह अपने आप में किसी आश्चर्य से कम नहीं है।  दुबई ने साबित कर दिया है की बुलंद इरादें और दूर दृष्टि हो तो कुछ भी असंभव नहीं है। आइये जानते हैं दुनिया के इस अदभुत और लाज़वाब शहर के बारे में वो सब जो इसे दुनिया का एक अनोखा स्थान बनाते हैं।




      दुबई किस देश में है

      दुबई UAE यानि संयुक्त अरब अमीरात के सात राज्यों में से एक राज्य है जिसे अमीरात बोला जाता है। यह भले ही संयुक्त अरब अमीरात का एक हिस्सा है फिर भी यह कई मामलों में उससे काफी अलग है। यहाँ अन्य इस्लामिक देशों की तरह पाबंदियां नहीं हैं। यहाँ आकर आपको बिलकुल ही महसूस नहीं होगा कि आप एक इस्लामिक देश में हैं बल्कि आपको ऐसा लगेगा जैसे आप न्यूयोर्क या मुंबई में हैं। यदि आपको अरबी नहीं आती तो भी आपका …

      ICC Cricket World Cup 2019: Schedule (Time Table) And Venue

      2019 के आगमन के साथ ही एकदिवसीय क्रिकेट विश्व कप की उलटी गिनती शुरू हो रही है और क्रिकेट प्रेमी बेसब्री से नए विश्व चैंपियन का स्वागत करने  के लिए अपनी आँखे बिछाए बैठे हैं। क्रिकेट का महाकुम्भ इस बार इंग्लैंड और वेल्स की धरती पर 30 मई 2019 से 14 जुलाई 2019 तक खेला जायेगा। डिफेंडिंग चैंपियन ऑस्ट्रेलिया पर जंहा अपनी बादशाहत को कायम रखने का दबाव होगा वहीँ मेज़बान इंग्लैंड को अपने घरेलु दर्शकों के बीच पहली बार इस कप को पाने  का दबाव होगा। यह विश्व कप का बारहवां संस्करण होगा। इसमें सभी दस टीमें भाग लेंगी। सभी टीमें राउंड रोबिन में एक दूसरे से भिड़ेंगी और अंक तालिका में सर्वोच्च स्थान पाने वाली चार टीमों में पहले और चौथे और दूसरे और तीसरे स्थान पर आने वाली टीमों में बीच सेमी फाइनल मैच होंगे। इन दोनों टीमों के विजेताओं के मध्य फाइनल मैच 14 जुलाई 2019 को खेला जायेगा।


      भारतीय समयानुसार ICC क्रिकेट विश्व कप 2019 का शिड्यूल (टाइम टेबल) और वेन्यू

      पहले राउंड में कुल 45 मैच खेले जायेंगे

      Date, Time (IST) Between Venue

      ICC World Cup: All Why, How, When and Whats

      बहुप्रतीक्षित एकदिवसीय मैचों का ICC क्रिकेट वर्ल्ड कप का बारहवाँ संस्करण 2019 में इंग्लैंड और वेल्स में होने जा रहा है। इसमें जहाँ वर्तमान चैंपियन ऑस्ट्रेलिया अपने ख़िताब को बचाने उतरेगी वहीँ इंग्लैंड और न्यूजीलैंड तथा कई अन्य देशों के सामने इस विश्व कप को पहली बार अपने देश लेजाने का दबाव भी होगा। प्रतियोगिता रोबिन राउंड मुकाबले के आधार पर होगी जिसमे ऊपर की चार टीमों को सेमी फाइनल खेलने का मौका मिलेगा। सेमी फाइनल विजेताओं के बीच फाइनल मुकाबला होगा और विजेता टीम विश्व कप की  हक़दार होगी।
      क्रिकेट का हर टूर्नामेंट बेहद ही रोमांचक होता है फिर तो यह विश्व कप का मुकाबला है। दर्शक जूनून की हद तक जाकर मैचों को देखते हैं और बड़ी ही बेसब्री से हर मुकाबले का परिणाम जानने की प्रतीक्षा करते हैं। दर्शकों में टूर्नामेंट के रिकार्ड्स के साथ साथ हर छोटी बड़ी बातों को जानने की उत्सुकता रहती है। क्रिकेट प्रेमियों की इसी जरुरत को पूरा करने के लिए प्रस्तुत है विश्व कप सम्बन्धी कुछ रोचक जानकारियां :



      ICC वर्ल्ड कप 2019  में कितनी टीमें भाग ले रहीं हैं?

      ICC वर्ल्ड कप 2019 में कुल दस टीमें भाग ले रहीं हैं  इंग्लै…