Skip to main content

Loo Se Bachne Ke Upay

पूरे भारतीय महाद्वीप में मई और जून का महीना बहुत ही उष्ण और शुष्क होता है।
गर्मी अपने चरम पर होती है। सूरज किसी दहकते हुए गोले के समान जलता है और मालूम
पड़ता है जैसे वह और करीब आ गया है। पुरे महाद्वीप में गर्म हवाएं चलती है। दिन के समय
इन हवाओं के थपेड़े लगता है चेहरे को झुलसा देंगी। दिन के समय बहने वाली इन हवाओं को
लू कहा जाता है। ये इतनी खतरनाक होती हैं कि अक्सर इनकी चपेट में आकर आदमी बीमार
पड़ जाता है कई बार तो मौत भी हो जाती है। हमारी दिनचर्या और काम का प्रेशर ऐसा है कि इस
दौरान भी हमें बाहर निकलनापड़ता है। हम जानते हैं कि किसी भी बीमारी के होने के बाद इलाज
कराने से अच्छा उसका बचाव होता है। आईये देखते हैं लू लगने के लक्षण,कारण और बचाव के
उपाय क्या क्या हैं ? लू लगना इसे हीट स्ट्रोक या सन स्ट्रोक भी कहते हैं इसके मुख्य कारण
निम्न हैं :
Image result for heat stroke
Causes of Sunstroke Or Loo लू लगने के कारण
  • धूप में देर तक काम करना
  • खाली पेट धूप में निकलना
  • पानी कम पीना
  • बहुत ज्यादा शराब पीना
  • खुले सर बाहर जाना
  • गर्म और भीड़ भाड़ वाली जगह में रहना
Symptoms Of Loo लू लगने के लक्षण
  • लू लगने पर त्वचा शुष्क हो जाती है और अत्यधिक कमजोरी मालूम पड़ता है।
  • उलटी होने लगती है तथा चक्कर आने लगते हैं।
  • कभी कभी बेहोशी भी आने लगती है।
  • हाथ और पैर के तलवों में जलन, आँखों में जलन होने लगती है।
  • अचानक तेज बुखार आने लगता है।
  • सर भारी भारी सा महसूस होता है।
  • नाड़ी तथा खून की गति तेज मालूम पड़ती है।
  • शरीर में कमजोरी तथा ऐठन होने लगती है।
  • ब्लड प्रेशर लो हो जाता है रोगी का मुँह सूखने लगता है और पसीना नहीं निकलता।
  • कई बार उलटी के साथ दस्त भी होने लगते हैं।
Risk Factors Of Loo Or Sunstroke
चिकित्सीय भाषा में लू उस अवस्था को कहते हैं जब शरीर का तापमान 105 डिग्री से अधिक हो
जाता है और शरीर के सेंट्रल नर्वस सिस्टम में जटिलताएं आने लगती है जिससे कि लो ब्लड प्रेशर
तथा शरीर में किडनी और लीवर में सोडियम पोटैशियम का संतुलन बिगड़ने लगता है जिससे कि
बेहोशी आने लगती है तथा ब्रेन तथा हार्ट स्ट्रोक की स्थिति बन जाती है।
लू लगने पर शरीर में डिहाइड्रेशन की स्थिति बन जाती है अर्थात शरीर में पानी की अत्यधिक कमी
हो जाती है जिससे व्यक्ति के ह्रदय,मष्तिष्क, गुर्दे तथा मांशपेशियां के नार्मल फंक्शन में दिक्कत
आने लगती है जिससे कि व्यक्ति की मृत्यु भी हो सकती है।
लू का खतरा सबसे ज्यादा छोटे बच्चों और पचास से ऊपर के व्यक्तिओं में होता है। ऐसा इस लिए
होता है क्योंकि छोटे बच्चों में सेंट्रल नर्वस सिस्टम विकास की अवस्था में होता है जबकि बूढ़े लोगों
में यह कमजोर होता है।
कई लोग जो धमनिओं को संकीर्ण करने की विभिन्न दवाओं का सेवन करते हैं उन्हें भी लू लगने से
खतरे ज्यादा होते हैं।
लू से बचने के उपाय
  • जहाँ तक संभव हो दोपहर के समय घर से बहार नहीं निकलना चाहिए। यदि बहुत जरूरी हो
तो सर को छाते या कपडे से ढक कर निकलना चाहिए।
  • हर थोड़ी थोड़ी देर में पानी पीते रहना चाहिए। पूरे दिन में पांच से छ लीटर से अधिक पानी
पीना चाहिए।
  • खाली पेट नहीं रहना चाहिए खासकर बाहर जाते समय तो बिलकुल नहीं
  • मौसमी फल जैसे खीरा, ककड़ी, तरबूज़ आदि का सेवन लाभदायक रहता है।
  • शराब और मष्तिष्क को प्रभावित करने वाली दवाएं बिलकुल न लें।
  • नीबू पानी, आम का पना, लस्सी, छाछ का सेवन करते रहना चाहिए।
लू लगने पर प्राथमिक उपचार
  • लू लगने पर सबसे पहले व्यकित को किसी ठन्डे कमरे में लिटाना चाहिए। जहाँ तक संभव हो
उसे सीलिंग फैन की हवा न देकर कूलर या हैंड फैन की हवा देनी चाहिए।
  • रोगी को नमक चीनी पानी का घोल पिलाना चाहिए।
  • रोगी के शरीर को भीगे कपडे या बर्फ से पोछना चाहिए।
  • तेज बुखार होने पर गीले कपडे की पट्टी देना चाहिए।
  • हाथ पैर के मालिश करना चाहिए जिससे के रक्त संचरण की गति सामान्य हो सके।
  • इमली का पका हुआ गुदा हाथ पैरों में मलने से भी आराम मिलता है।
  • प्याज का रस छाती और कनपटिओ पर मलने से आराम मिलता है।
  • प्याज का रस और शहद मिला कर रोगी को देने से आराम मिलता है।
  • रोगी को कच्चे आम का पना थोड़ी थोड़ी देर पर पिलाने से आराम मिलता है।
  • उपर बताये गए उपायों से यदि शीघ्र आराम न मिले तो बिना देर किये किसी चिकित्सक से
संपर्क करना चाहिए।
दोस्तों यह जानकारी कैसी लगी प्लीज कमेंट के माध्यम से हमें बताएं ताकि भविष्य में हम और बेहतर कर सकें

Comments

Popular posts from this blog

Dubai: Duniya Ki Sabse Unchi Buildingon Ka Shahar

दुबई का नाम आते ही दिमाग में एक ऐसे शहर का ख्याल आता है जो चकाचौंध से भरपूर हो , जहाँ चौड़ी चौड़ी सड़कें हों जिन पर महँगी महँगी गाड़ियां पूरी स्पीड से दौड़ रही हों, सर से पांव तक सफ़ेद कपड़ों में लिपटे शेख हों और जहाँ अकूत दौलत हो, जहाँ आसमान से बातें करती ऊँची ऊँची अट्टालिकाएं हों  ।
दुबई ने मात्र पांच दशकों में ही तरक्की और विकास की जो मिसाल कायम की है वह अपने आप में किसी आश्चर्य से कम नहीं है।  दुबई ने साबित कर दिया है की बुलंद इरादें और दूर दृष्टि हो तो कुछ भी असंभव नहीं है। आइये जानते हैं दुनिया के इस अदभुत और लाज़वाब शहर के बारे में वो सब जो इसे दुनिया का एक अनोखा स्थान बनाते हैं।




दुबई किस देश में है

दुबई UAE यानि संयुक्त अरब अमीरात के सात राज्यों में से एक राज्य है जिसे अमीरात बोला जाता है। यह भले ही संयुक्त अरब अमीरात का एक हिस्सा है फिर भी यह कई मामलों में उससे काफी अलग है। यहाँ अन्य इस्लामिक देशों की तरह पाबंदियां नहीं हैं। यहाँ आकर आपको बिलकुल ही महसूस नहीं होगा कि आप एक इस्लामिक देश में हैं बल्कि आपको ऐसा लगेगा जैसे आप न्यूयोर्क या मुंबई में हैं। यदि आपको अरबी नहीं आती तो भी आपका …

ICC Cricket World Cup 2019: Schedule (Time Table) And Venue

2019 के आगमन के साथ ही एकदिवसीय क्रिकेट विश्व कप की उलटी गिनती शुरू हो रही है और क्रिकेट प्रेमी बेसब्री से नए विश्व चैंपियन का स्वागत करने  के लिए अपनी आँखे बिछाए बैठे हैं। क्रिकेट का महाकुम्भ इस बार इंग्लैंड और वेल्स की धरती पर 30 मई 2019 से 14 जुलाई 2019 तक खेला जायेगा। डिफेंडिंग चैंपियन ऑस्ट्रेलिया पर जंहा अपनी बादशाहत को कायम रखने का दबाव होगा वहीँ मेज़बान इंग्लैंड को अपने घरेलु दर्शकों के बीच पहली बार इस कप को पाने  का दबाव होगा। यह विश्व कप का बारहवां संस्करण होगा। इसमें सभी दस टीमें भाग लेंगी। सभी टीमें राउंड रोबिन में एक दूसरे से भिड़ेंगी और अंक तालिका में सर्वोच्च स्थान पाने वाली चार टीमों में पहले और चौथे और दूसरे और तीसरे स्थान पर आने वाली टीमों में बीच सेमी फाइनल मैच होंगे। इन दोनों टीमों के विजेताओं के मध्य फाइनल मैच 14 जुलाई 2019 को खेला जायेगा।


भारतीय समयानुसार ICC क्रिकेट विश्व कप 2019 का शिड्यूल (टाइम टेबल) और वेन्यू

पहले राउंड में कुल 45 मैच खेले जायेंगे

Date, Time (IST) Between Venue

ICC World Cup: All Why, How, When and Whats

बहुप्रतीक्षित एकदिवसीय मैचों का ICC क्रिकेट वर्ल्ड कप का बारहवाँ संस्करण 2019 में इंग्लैंड और वेल्स में होने जा रहा है। इसमें जहाँ वर्तमान चैंपियन ऑस्ट्रेलिया अपने ख़िताब को बचाने उतरेगी वहीँ इंग्लैंड और न्यूजीलैंड तथा कई अन्य देशों के सामने इस विश्व कप को पहली बार अपने देश लेजाने का दबाव भी होगा। प्रतियोगिता रोबिन राउंड मुकाबले के आधार पर होगी जिसमे ऊपर की चार टीमों को सेमी फाइनल खेलने का मौका मिलेगा। सेमी फाइनल विजेताओं के बीच फाइनल मुकाबला होगा और विजेता टीम विश्व कप की  हक़दार होगी।
क्रिकेट का हर टूर्नामेंट बेहद ही रोमांचक होता है फिर तो यह विश्व कप का मुकाबला है। दर्शक जूनून की हद तक जाकर मैचों को देखते हैं और बड़ी ही बेसब्री से हर मुकाबले का परिणाम जानने की प्रतीक्षा करते हैं। दर्शकों में टूर्नामेंट के रिकार्ड्स के साथ साथ हर छोटी बड़ी बातों को जानने की उत्सुकता रहती है। क्रिकेट प्रेमियों की इसी जरुरत को पूरा करने के लिए प्रस्तुत है विश्व कप सम्बन्धी कुछ रोचक जानकारियां :



ICC वर्ल्ड कप 2019  में कितनी टीमें भाग ले रहीं हैं?

ICC वर्ल्ड कप 2019 में कुल दस टीमें भाग ले रहीं हैं  इंग्लै…