Skip to main content

Kamal Hassan and his new party Makkal Needhi Maiam


Kamal Hassan ने जो बारीकी अपने अभिनय,निर्देशन में दिखाई है उम्मीद की जाती है कि  वही बारीकी वे अपने राजनितिक जीवन में भी दिखाएँगे। अभी तक के उनके सारे कदम इसी बात को साबित करते हैं कि वे एक कुशल राजनेता की तरह एक-एक कदम चुन चुन कर उठाया है।Image result for kamal hasan


South India खास कर Tamilnadu  और Andra Pradesh की राजनीति और फिल्मों  में हमेशा से बड़ा ही गहरा सम्बन्ध रहा है। प्राय : फ़िल्मी सितारे अपनी दूसरी इनिंग राजनीति  में ही खेलते रहे हैं। वह चाहे M G  Ramchandran  हों N T Ramarao  हों Jailalitha  हों या फिर जयाप्रदा। जनता भी उन्हें सिर आँखों पर लिए रहती है। अत: Kamal  Hasan का राजनीति  में आना अप्रत्याशित बिलकुल भी नहीं रहा। आज उन्होंने अपनी खुद की पार्टी बना डाली। हालाँकि इसकी तैयारियां वे पिछले कई महीनों से कर रहे थें। Image result for kamal hasan

Kamal Hassan एक मंझे हुए अभिनेता ,पटकथा लेखक, निर्देशक ,गायक और गीतकार रहे हैं। अपनी प्रतिभा का लोहा उन्होंने कई बार मनवाया है। उन्हें तीन बार National Film Award और 19 बार Film Fair Award मिल चुके हैं। उनकी प्रोडक्शन कंपनी Raj Kamal International  ने कई सुपर हिट फ़िल्में बनाई है। Kamal  Hassan  का जन्म परमकुड़ी में 7 नवम्बर 1954 में हुआ था। उन्होंने दो शादियां की हैं।  पहली पत्नी वाणी गणपति है जिससे उनका तलाक 1988 में हो चूका है और दूसरी पत्नी सारिका है।  इनसे भी उनका तलाक 2004 में हो गया था। उनके दो बच्चे हैं Shruti Hassan और Akshara Hassan. उन्हें भारत सरकार  द्वारा पदमश्री (1990 ) और पदम्भूषण(2014 )  दिया गया। इसके अलावा Prix Henri Langlois French  Award 2016 , Chevolier French 2016 में उन्हें मिला।
उन्होंने अपना करियर चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पे 1960 में शुरू किया। फिल्म का नाम Kalathur Kannama था। इस फिल्म में उन्हें प्रेजिडेंट गोल्ड मैडल मिला। 1975 में उन्होंने Apoorv  Raagangal जो K Balachandra द्वारा निर्देशित थी में अपना पहला लीड रोल किया।  इसके लिए उन्हें  National Film Award मिला। फिर Muundram Pirai ,Nayagan , Hey  Ram ,Virumaandi , Vishwaroopam , Dashawtaram  आदि अनेक फिल्मो में अपने अभिनय की अमिट छाप छोड़ी।
Jaylalitha की मृत्यु और Karunanidhi  की अत्यधिक उम्र और अस्वस्थता तथा साथ ही उनके बेटों में कलह, तमिलनाडु में नेतृत्व का अभाव दीख रहा था। जनता दुविधा में थी। साथ ही जनता  AIMDAK  और DMK के भ्रष्टाचारों से ऊब चुकी थी। राष्ट्रीय पार्टियां बीजेपी और कांग्रेस वहां अपने अस्तित्व के लिए संघर्ष कर रही हैं।   Kamal Hassan ने इस राजनितिक गैप का फायदा उठाया और अपनी पार्टी Makkal Needhi Maiam लोक न्याय पार्टी लांच कर दी। उन्होंने अपनी पार्टी की शुरुवात पूर्व राष्ट्रपति डॉ Abdul Kalam  के घर से की।  शायद वे जनता को सन्देश देना चाहते हैं कि उनकी पार्टी उनके आदर्शों पर चलेगी।  साथ ही उद्घाटन अवसर पर Arvind Kejriwal को बुलाना यह  संकेत  कि वह साफ़ सुथरी , सरल और अलग तरह की  राजनीति करेंगे जिसमे भ्रष्टाचार के लिए जीरो टोलेरेंस हो।
Kamal Hassan के चाहने वालों की कमी नहीं। है उनके फैंस लाखों ,करोडो में। हैं। अब देखना यह है कि वे अपने चाहने वालों की उम्मीदों पर खरा उतरते हैं या नहीं। 

Comments

Post a Comment

Name :
Comment :

Popular posts from this blog

Nirav Modi and Punjab National Bank Scam

Nirav  Modi   , एक ऐसी शख्सियत जो आज अखबारों  और न्यूज़ चैनलों की हेड लाइन बना हुआ है, बैंकों  और खासकर पंजाब नेशनल बैंक की गले की हड्डी बना हुआ है  आखिर है कौन ? आखिर क्यों उसने भारत सरकार  की नींद उड़ा  दी और बैंको की साख पर बट्टा लगा दिया।  तो आइये चलते हैं  आज  जानते हैं कि  आखिर  Nirav  Modi  कौन है और उसने ऐसा कौन सा कारनामा कर दिया है। 
Nirav  Modi  वही शख्स है जिसने भारत के इतिहास में सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले को अंजाम दिया है। घोटाला भी ऐसा वैसा नहीं पुरे 1.8 बिलियन डालर यानि करीब करीब 11400 करोड़ रुपये का। मजे की बात यह है की यह घोटाला पंजाब नेशनल बैंक की एक ही शाखा मुंबई में हुआ। 
Nirav  Modi एक ग्लोबल ज्वेल्लरी हाउस है जिसकी स्थापना नीरव मोदी ने 2010 में की थी। नीरव मोदी ज्वेल्लरी हाउस भारत का पहला ज्वेल्लरी हाउस है जो Cristie  and Sotheby Catalogues में अपना स्थान बनाया था।  मोदी के पिता और दादा दोनों इसी व्यसाय में थे।  नीरव का पालन पोषण Antewerp Belgium में हुआ था। उनकी शादी Ami Modi  से हुई थी और उनके तीन बच्चे हैं। उनके छोटे भाई nishat की शादी Mukesh  Ambani  की भतीजी  इशिता…

Uric Acid: Lakshan Aur Niyantran Ke Upay Hindi Me

यूरिक एसिड और गाउट /अर्थराइटिस  

कई बार ऐसा होता है कि कुछ लोगों को चलने फिरने में काफी तकलीफ का सामना करना पड़ता है और उनके शरीर के जोड़ जोड़ में दर्द होता है। गांठे सूज जाती हैं और वह करीब करीब बेड पर हो जाता है। यह बीमारी काफी तकलीफदायक है क्योंकि यह सीधे मनुष्य के खड़े होने , चलने फिरने पर प्रभाव डालता है और इस वजह से वह लाचार और काफी हद तक दूसरों पर निर्भर हो जाता है। 
आइए जानते हैं ऐसा किन वजहों से होता है और कैसे इसका निदान करते हैं : मनुष्य के शरीर में विभिन्न उपापचयी क्रियाओं के पश्चात यूरिक एसिड का निर्माण होता है। जब किसी कारणवश शरीर में इसकी मात्रा बढ़ जाती है तब यह शरीर पर अपना नुकसान दिखाना शुरू करती है।  यूरिक एसिड या गठिआ क्या है What is Uric Acid
यूरिक एसिड कार्बन,हाइड्रोजन,नाइट्रोंजन तथा ऑक्सीजन परमाणुओं का एक हेट्रोसिक्लिक योगिक होता है जो शरीर के अंदर विभिन्न उपापचयी क्रियाओं के पश्चात् प्यूरिन के रूप में उत्पन्न होता है।इसी प्यूरिन के टूटने से यूरिक एसिड का निर्माण होता है।  जब हमारे शरीर में इसकी मात्रा सामान्य से अधिक हो जाती है तो इसे Hyperuricemia या सामान्य बोलचाल में …

Diabetes Ya Madhumeh Kya Hai

आज कम्पटीशन,टारगेट और टेंशन की जिंदगी ने हमारे लाइफ स्टाइल को काफी बदल के रख दिया है। जीवन के इस बदलाव और आरामतलब जिंदगी ने कई बीमारीओं को जन्म दिया है। जिसमे से एक है डायबिटीज या मधुमेह। आज भारत में करीब 70 मिलियन लोग diabetes से ग्रस्त हैं। यह अपने आप में कोई बीमारी नहीं है पर बहुत से खतरनाक रोगों का जनक है। 
डायबिटीज या शुगर क्या है 

Diabetes वास्तव में हमारे रक्त में शुगर की मात्रा सामान्य स्तर से बढ़ने की स्थिति को कहते हैं। यह स्थिति तब आती है जब हमारे शरीर में पाचन के उपरांत बने ग्लूकोस का अवशोषण कोशिकाओं के द्वारा नहीं हो पाता। रक्त में मौजूद यह शुगर हमारे कई अंगों को डैमेज कर देता है। कई बार हमें तब पता चलता है जब काफी नुकसान हो चूका होता है। यही वजह है कि इसे साइलेंट किलर भी कहा जाता है। 
हमारे शरीर में सामान्य शुगर लेवल क्या होना चाहिए 

हमारे शरीर में सामान्य अवस्था में शुगर लेवल खाली पेट 70 से 100 mg /dl होना चाहिए जबकि खाना खाने के बाद 120 से 140 mg /dl  जब हमारे रक्त में शुगर लेवल इससे अधिक हो तो इसे diabetes या सामान्य बोलचाल में शुगर होना कहते हैं। 
डायबिटीज के लक्षण 

डायबिटी…